रोज़ सुबह दोड़ लगाने से शरीर में क्या होता है

दोस्तों, Running एक simple but most effective exercise है. मगर ज़्यादातर लोग अक्सर बारीक़ गलतियाँ करते है और उन्हें रिजल्ट नहीं मिलता. लेकिन आज के इस वीडियो में हम रनिंग से जुडी काफी चीज़े discuss करेंगे की ऐसा क्या किआ जाये की रनिंग करते वक्त हमें थकान भी महसूस ना हो और running से मिलने वाले सारे benefits भी हमें मिल पाए.

आईये सबसे पहले जानते है Running से मिलने वाले mind blowing benefits के बारे में:-

01 Healthy Heart

प्रकृति ने इंसान को दो चीज़े दी है ताकि उसकी body properly  काम करे. एक है दिमाग और दूसरा है heart. Running एक ऐसी exercise है जो आपके heart को healthy रखती है. बॉडी के सभी ऑर्गन्स को काम करने के लिए ब्लड की ज़रूरत होती है, लेकिन हमारी hectic lifestyle की वजह से हमारी बॉडी के सिर्फ कुछ ऑर्गन्स को ही ब्लड सही से supply होता है. जब आप चल ने के बदले दौड़ते है तो आपका heart बड़ी तेज़ी से सारे ऑर्गन्स को ब्लड supply करना शुरू कर देता है, और अगर आप regular दौड़ लगाए तो आपके बहोत सारे organs decease free हो जायेंगे.

02 Better Immune System

जो immune system हो चंगा, रोग ना लेगा पंगा. Running से बॉडी में खून का बहाव तेज़ हो जाता है. जिस से बॉडी Pathogen को आपके शरीर से बहार निकाल देती है.  लाखो लोग साल में कई बार छोटी मोटी बीमारी का शिकार हो जाते है, और ये मौसम बदलने पे होता है. लेकिन अगर आप regular running करते है तो आपका शरीर काफी active रेहता है और आपका Immune System भी स्ट्रांग हो जाता है जिसकी वजह से छोटी मोटी बीमारियाँ आपको छू भी नहीं पाती. जिस से ultimately आप अपनी स्टडी या फिर अपनी जॉब में पूरा फोकस लगा पाते है.

Healthy lifestyle के लिए healthy बॉडी ज़रूरी है, अगर आप भी अपनी body और lifestyle healthy रखना चाहते है तो इस चैनल को subscribe कर के बेल्ल आइकॉन ज़रूर प्रेस करदे.

03 Calorie Burn

लोगो को अपने हेल्थ की चिंता अक्सर तब होती है जब उनका पेट शर्ट के बटन तोड़ देता है. फिर लोग धीरे धीरे चलना शुरू करते है ये सोच के की इस से उनकी थोड़ी कैलोरी burn होगी, लेकिन अगर आप walking के बदले running करेंगे तो आपकी कैलोरी ज़्यादा तेज़ी से burn होगी. एक स्टडी के हिसाब से running करने वाले एक मिनट में 11 कैलोरी burn कर लेते है जब की walking करने वाले 1 मिनट में  6 कैलोरी ही burn कर पाते है. तो अगर आपका बजट आपको Gym की annual membership लेने से मना कर रहा है या फिर आपके पास Gym जाने का  टाइम नहीं है तो आज से ही रनिंग शुरू कर दीजिये.

04 Effect on Core Muscles

मजबूत core muscles आपकी बॉडी को अच्छा लुक और आपको healthy lifestyle दोनों दे सकती है. जिसकी core muscle strong होगी उसका digestion भी अच्छा होगा, और उसकी बॉडी काफी एक्टिव होगी. अगर आप अपनी कोर muscle के लिए काफी सारी अलग अलग exercise कर के थक चुके है तो आपको running ज़रूर करनी चाहिए.

05 Quality sleep

healthy लाइफ के लिए चैन की नींद बहोत ज़रूरी है, लेकिन हमारी hectic lifestyle की वजह से हम स्ट्रेस का शिकार हो जाते है. जब भी हम स्ट्रेस का शिकार होते है तो हमारा शरीर cortisol नाम का stress hormone release करती है. जिस से आपकी बॉडी को चैन की नींद नसीब नहीं होती. लेकिन अगर आप रोज़ running करते है तो आपकी बॉडी में cortisol का लेवल कम होने  लगता है,  और आपको मिलती है चैन की नींद. तो अगर आप चैन की नींद का मज़ा लेना चाहते है तो Running को अपनी priority लिस्ट में शामिल ज़रूर करे.

 

आइये जानते है कुछ एसी  बातें जो आपकी running को smooth बनाएँगी ओर आपको थकान भी कम महसूस होगी।

Tip 01 Jog before you start

बस लंग्स में हवा भरलो और भागो. ज़्यादातर लोग जब running करने जाते है तो ये same mistake करते है. लेकिन हर चीज़ की एक technique होती है.  Running शुरू करने से पहले आपको अपनी बॉडी और माइंड को running के लिए तैयार करना होता है और वो आप कर सकते है Jogging से. सबसे पहले चलना शुरू कीजिये फिर थोड़ा तेज़ चलिए और फिर धीरे धीरे दौड़ना स्टार्ट कीजिये. इस तरह से आपको ज़्यादा थकान भी नहीं लगेगी और आप की रनिंग भी एक सही way में होगी.

वैसे तो आप जब तक चाहे आप Jogging कर सकते है लेकिन अगर आप first टाइम running करने जा रहे है या फिर एक लम्बे टाइम के बाद फिर से running शुरू कर रहे है तो आपको लगभग 5 मिनट Jogging ज़रूर करनी चाहिए.

Tip 02 Proper Body Posture

रनिंग करते वक्त काफी लोग अपने सर को दाए बाए या फिर ऊपर निचे घुमाते रहते है. लेकिन इस की वजह से आपकी गर्दन की माँसपेसिओ में खिंचाव आ सकता है जिस से ultimately आपको काफी pain का सामना करना पड़ेगा. और अगर आप फर्स्ट टाइम running करने जा रहे है तो maybe इस pain की वजह से आप कभी भी running नहीं करेंगे. तो अपने सर को हमेसा सीधी दिशा में रखे और सिर्फ ज़रूरत पड़ने पे दाये बाए घुमाये.

Tip 03 Body Momentum

Running के दौरान बॉडी momentum का सही होना भी बहोत ज़रूरी है. कई लोग अपने कंधे को यातो बहोत ज़्यादा आगे ले जाते है या फिर बहोत ज़्यादा पीछे रखते है. लेकिन ये गलत है. दौड़ते वक्त आपके कंधे 90 डिग्री के cone पे होने चाहिए. इसके अलावा आपके हाथ भी आपकी बॉडी को एक सही मोमेंटम देने में हेल्प करते है, इस लिए हाथो की मूवमेंट भी proper होनी चाहिए. Technically आपकी कोहनी और पसलियों के बिछ ज़्यादा गैप नहीं होना चाहिए.

Tip 04 पैरो की landing

Beginners के दिमाग में अक्सर ये सवाल होता है की दौडते वक्त पैरो की पोज़ीशन क्या होनी चाहिए. पहले हील ज़मीन पे रखे या पंजा. अक्सर लोग अपने कानो में ear phones लगा के कोई motivational song सुनते सुनते running करते है. जिसकी वजह से जूनून में आके लोग अपने पैरो से ताकत लगाने की कोशिश करते है और ऐसे में ज़्यादातर उनकी हील ज़मीन पे पहले पड़ती है. जब हील ज़मीन पे पड़ती है तो सारा बॉडी weight घुटनो पे आता है. और अगर हम इसी पैटर्न में लम्बे वक्त तक running करे तो घुटनो में दर्द भी शुरू हो जायेगा. लेकिन अगर आप हील के बदले पहले पंजा ज़मीन पे लैंड करेंगे तो भी यही होगा, इस लिए ज़रूरी है की आपका पूरा पैर ज़मीन पे लैंड हो.

Tip No 5 Consistency भी ज़रूरी है.

काम का रिजल्ट तभी मिलता है अगर वो काम आप consistently करे. पर लोग Running के बारे में तब सोचते है जब social media पे किसी fitness influencer को देखते है, और फिर लोगो में भी दौड़ ने की, एक्सरसाइज करने की इच्छा आग पकड़ लेति है. कुछ दिन सब सही चलता है लेकिन फिर वोही शुरू हो जाता है. “आज नहीं, कल जाऊंगा. एक दिन skip कर ने से कुछ नहीं होगा. लेकिन इस से फर्क पड़ता है.

एक्सरसाइज में consistency बहोत important रोल प्ले करती है. हाँ, ये बात भी सही है की शायद ख़राब मौसम, या बारिस की वजह से आपको running स्किप करना पड़े, लेकिन इसका भी solution है. आप ट्रेडमिल यूज़ कर सकते है. अगर आप को लगता है की आपका रोज़ का schedule काफी hectic है और आप हर रोज बाहर जाकर  running नहीं कर सकते तो आप घर में एक treadmill का इस्तेमाल कर सकते है.

treadmill के भी अपने कुछ benefits है जैसे की वो आपकी consistency बनाये रखने में तो मदद करता ही है पर साथ में आपका पूरा कन्ट्रोल आपके हाथो में होता है. अगर light exercise करनी है तो treadmill को उस हिसाब से सेट कर दीजिये और अगर थोड़ा tough करना है तो लेवल अपने हिसाब से थोड़ा बढ़ा दीजिये. इसके आलावा treadmill आपकी exercise accurate बनाता है. Like कल आप कितने किलोमीटर दौड़े थे और आज कितना दौड़ना है ओर भी कारी सारे option आपको treadmill में मिल जाते है।

Leave a Comment